Pages

Tuesday, January 3, 2017

श्री महावीर स्वामी मन्दिर, कोलकाता का सार्द्ध शताब्दी महोत्सव


श्री महावीर स्वामी जैन मन्दिर, कोलकाता की प्रतिष्ठा ईश्वी सन १८६८ में हुई और इस साल २०१७ में यह अपनी प्रतिष्ठा के डेढ़ सौवें वर्ष में प्रवेश कर रहा है. मंदिर के ट्रूस्टीयों ने एक वर्षव्यापी सार्द्ध शताब्दी महोत्सव मनाने का निर्णय किया है. श्री महावीर स्वामी मन्दिर, कोलकाता की प्रतिष्ठा तिथी माघ शुक्ल दशमी तदनुसार अंग्रेजी तारिख ६ फरबरी, २०१७ सोमवार से कार्यक्रम प्रारम्भ होगा। उल्लेखनीय तथ्य ये है की श्री सुखलाल जी जौहरी ने इस भव्य मंदिर का निर्माण कराया था।

mahaveer swami mahapoojan mahavira swami temple kolkata
महावीर स्वामी महापूजन 
इस उपलक्ष्य में प्रातः साढ़े आठ बजे से श्री महावीर स्वामी महापूजन पढ़ाई जाएगी एवं विजय मुहूर्त में ध्वजारोहण होगा। जैन आगमों में प्रमुख स्थान रखनेवाले दूसरे अंग सुयगडांग सूत्र पर आधारित यह पूजा विश्व में पहली बार पढाई जाएगी। इस महापूजन में अन्य आगम ग्रंथों का भी आधार लिया गया है. इस प्रकार यह एक विशिष्ट कोटि की पूजा होगी।

Main deity Mulnayak sri mahaveera swami at kolkata
मूलनायक श्री महावीर स्वामी, कोलकाता 
इस पूजन की परिकल्पना एवं संयोजन श्री ज्योति कोठारी कर रहे हैं एवं अंतरराष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त विधिकारक श्री यशवंत गोलेच्छा, जयपुर सम्पूर्ण विधि विधान संपन्न करवाएंगे. श्रीमती पुतुल कुमारी, वीरेंद्र, प्रदीप, राजकुमार, राजेश, चेतन, कीर्ति, धरणेन्द्र, दीपक कोठारी परिवार एवं श्री प्रदीप कुमार कुलदीप कुमार महमवाल परिवार की और से यह सम्पूर्ण कार्यक्रम आयोजित होगा. प् पू स्व प्रवर्तिनी श्री चंद्रप्रभा श्री जी म सा की सुशिष्या श्री संयमपूर्ण श्री जी, श्री चंदनबाला श्री जी आदि ठाणा के पावन सान्निध्य में यह महापूजन पढ़ाया जायेगा।

६ फरबरी को वर्षव्यापी महोत्सव का शुभारम्भ होगा और अगले वर्ष पूर्णाहुति तक समय समय पर अन्य आयोजन होते रहेंगे। मंदिर के १५० वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में पिछले २ वर्षों से मंदिर के जीर्णोद्धार एवं साज-सज्जा का काम जोरों से चल रहा है. खासकर उत्तुंग शिखर के जोर्णोद्धार एवं रंगमंडप को सुसज्जित किया जा रहा है. उपरोक्त कार्यक्रम में आप सभी सपरिवार आमंत्रित हैं.

महावीर स्वामी का यह प्राचीन मंदिर कोल्कता के मानिकतल्ला अंचल में २७, बद्रीदास टेम्पल स्ट्रीट में स्थित है, और कोल्कता हवाई अड्डे से करीब १२ किलोमीटर, हावड़ा स्टेसन से ७, सियालदह से ५ एवं कोलकाता रेल स्टेसन से २ किलोमीटर की दुरी पर है. यह मंदिर विश्वप्रसिद्ध शीतलनाथ मंदिर, चंदाप्रभु मंदिर एवं दादाबाड़ी से कुछ ही कदमो की दुरी पर है. ठहरने के लिए निकट ही श्री शीतलनाथ भवन में उचित व्यवस्था है.

जैन आगमों की रूपरेखा एवं इतिहास

Mahavira Swami Jain Temple in Kolkata


Vardhaman Infotech
A leading IT company in Jaipur
Rajasthan, India
E-mail: info@vardhamaninfotech.com

#महावीर #स्वामी #मन्दिर #कोलकाता #150वर्ष  #शताब्दी #महापूजन
Jain and Jainism: 150 years' celebration of Mahavira Swami Jain temple, Kolkata
allvoices

No comments:

Post a Comment