Pages

Sunday, September 14, 2014

सकल जैन समाज, जयपुर का क्षमावाणी समारोह


सकल  जैन समाज, जयपुर द्वारा आज भव्य समारोह पूर्वक क्षमावाणी कार्यक्रम आयोजित किया गया. सुबोध पब्लिक स्कूल प्रांगण में आज सुबह से ही जन सैलाब उमड़ रहा था. सभी श्वेताम्बर - दिगंबर दोनों समुुुुदाय के जैन संतों को सुनने के लिए लालायित थे. श्वेताम्बर - दिगंबर जैन एकता का महाकुम्भ जो था ये!!

गत वर्ष दिगंबर जैन राष्ट्रसंत तरुणसागर जी महाराज एवं श्वेताम्बर जैन राष्ट्रसंत द्वय ललितप्रभ सागर एवं चन्द्रप्रभ सागर जी महाराज का ४२ दिन तक तक एक साथ सार्वजनिक कार्यक्रम करवा कर सकल  जैन समाज, जयपुर ने जैन एकता की मिसाल कायम की थी. गत वर्ष भी इसी प्रकार क्षमावणी कार्यक्रम आयोजित हुआ था. उसके बाद से तो ये लौ अनवरत जल रही है. दिगंबर समाज के मानक काला एवं खरतर गच्छ के तत्कालीन संघमन्त्री ज्योति कोठारी के अथक प्रयासों से यह एकता संभव हुई थी.

आज श्वेताम्बर समुदाय के स्थानकवासी, तेरापंथी, खरतर गच्छ एवं तपागच्छ के साधु साध्विओं के साथ दिगंबर समुदाय की ब्रह्मचारिणी जी भी इस कार्यक्रम में सम्मिलित हुई. उन्होंने कहा की उनका जन्म श्वेताम्बर सनडे में हुआ और दीक्षा दिगंबर में. राकेश मुनि ने कहा की वे दिगंबर समाज में जन्मे हैं और श्वेताम्बर समुदाय में उनकी दीक्षा हुई है. साध्वी शशिप्रभा श्री जी ने कहा की आज कारणवश दिगंबर मुनि नहीं पधार पाये यदि वो पधारते तो आज का आनंद और बढ़ जाता।

कार्यक्रममें राजस्थान के महाधिवक्ता नरपतमल लोढ़ा, कुलदीप रांका IAS, डी सी जैन IPS विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे. जयपुर के विभिन्न समुदाय के जैन संघों के पदाधिकारीगण एवं अन्य अनेक गणमान्य व्यक्ति सभा में उपस्थित थे उन सबने उपस्थित संतों एवं सतियों से क्षमा याचना की.

जन टीवी को दिए अपने साक्षात्कार में ज्योति कोठारी ने कहा की गत वर्ष जो मशाल जाली थी आज उसकी रौशनी से पूरा भारत दमक रहा है. इस वर्ष दिल्ली, मुंबई, इन्दौर आदि अनेक स्थानो पर एकता के प्रतीक स्वरुप यह क्षमावणी मनाया गया है. कार्यक्रम का संचालन सुनीश मारु ने किया एवं धन्यवाद महेंद्र सिंघवी ने ज्ञापित किया।  

"संगठन की बीणा को झनझनाने दो, गीत एकता के गुनगुनाने दो"



Vardhaman Infotech
A leading IT company in Jaipur
Rajasthan, India
E-mail: info@vardhamaninfotech.com
allvoices

No comments:

Post a Comment