Pages

Monday, July 21, 2014

चित्रांग मुर्डिया ने फिजिक्स ओलिंपियाड में जीता स्वर्णपदक

चित्रांग मुर्डिया 

उदयपुर के चित्रांग मुर्डिया ने कज़ाकिस्तान के अस्ताना में आयोजित फिजिक्स ओलिंपियाड में स्वर्णपदक जीत कर देश एवं जैन समाज का नाम रोशन किया है. मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से भारतीय विद्यार्थियों का एक दल इस विश्व स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने गया हुआ है. इसमें चित्रांग के अलावा भारत के एक और किशोर ने स्वर्णपदक प्राप्त किया है. यह ओलिंपियाड आज समाप्त होने वाली है. 

देश के सभी प्रमुख अख़बारों ने इस समाचार को प्रकाशित किया है. देश के प्रमुख दैनिक अख़बार टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने तो अपने जयपुर संस्करण में इसे मुखपृष्ठ पर प्रमुखता से छापा है. टाइम्स ऑफ़ इंडिया को अस्ताना, कज़ाकिस्तान से दूरभाष पर दिए एक साक्षात्कार में चित्रांग ने कहा की इस कठिन प्रतियोगिता में भारतीय दल ने अच्छा प्रदर्शन किया। विश्व के सर्वश्रेष्ठ बुद्धिमानो से प्रतियोगिता करना एक स्मरणीय अनुभव है. इस यात्रा से मुझे ये भी अनुभव हुआ की हमारी शिक्षा प्रणाली किसी भी उन्नत देश से कमजोर नहीं है. 

चित्रांग का सम्पूर्ण विद्यार्थी जीवन गौरवशाली रहा है एवं इस वर्ष आयोजित  IIT-JEE, 2014 परीक्षा में वह पुरे भारत में अव्वल रहा है. वो भारत का एक मात्र विद्यार्थी है जिसने भौतिकी, रसायन, गणित एवं ज्योतिर्विद्या इन चारों विषयों में ओलिंपियाड सफलता पूर्वक उत्तीर्ण की है.
चित्रांग मुर्डिया के पिता श्री मनीष मुर्डिया इलेक्ट्रॉनिक सामान के व्यापारी हैं एवं जैन कला मेंविशेष रूचि रखते हैं. उसकी माँ सोनाली एक गृहिणी हैं साथ ही व्यापर भी करती हैं. उसके नाना डा श्री शमशेर भंडारी  जयपुर में नेत्र शल्य चिकित्सक हैं एवं उसके माँ के मामा श्री सुरेन्द्र बोथरा जैन धर्म के ख्याति प्राप्त विद्वान हैं जिन्होंने लगभग वीस आगमो का अंग्रेजी में अनुवाद किया है. 

हमें ऐसे होनहार विद्यार्थी पर गर्व है.  



Vardhaman Infotech
A leading IT company in Jaipur
Rajasthan, India
E-mail: info@vardhamaninfotech.com
allvoices

No comments:

Post a Comment