Pages

Tuesday, March 25, 2014

Hungarian scholar's book release about Anandghan


  Anandghan was a great Jain ascetic of 17th century. He lived mostly in Gujrat and Rajasthan and breathed his last at Merta city. He lived his ascetic life with spirituality and blessed many ones lives. He was also a great poet who wrote devotional songs and lyrics with great spiritual, cultural and literary values. Most of his literature is written in Pingal, a local type of old Hindi.

Inspired with virtues of Sri Anandghan ji Maharaj, Dr. Imre Banga, a Hungarian scholar and professor at Oxford university translated some of his lyrics into English language. Hungarian Information and Cultural Center has decided to release his book "Its city showman's show" on April 3, 2014. Sri Girdhar Rathi, renowned poet will be the Chief guest of the occasion whereas Jyoti Kothari will be the guest of honor. The Director, Hungarian Information and Cultural Center has invited all Jain people at their center at 1A, Janpath, New Delhi at 6 PM to attend the ceremony.

Dr. Imre Banga met me today and we have discussed several matters related to Anandghan. It is believed that this was his last but one birth and Anandghan is moving as omniscient in Mahavideha Kshetra at present. He will be liberated in this very birth from there.

Vardhaman Infotech
A leading IT company in Jaipur
Rajasthan, India
E-mail: info@vardhamaninfotech.com http://vardhamaninfotech.com/
allvoices

Monday, March 24, 2014

Sakal Jain Samaj will celebrate Mahavira Jayanti


Mahavira Swami temple, Kolkata
 Sri Mahavira Swami 
Sakal Jain Samaj, Jaipur will celebrate Mahavira Jayanti, auspicious birthday of 24th Jain Tirthankar on Sunday morning, April 13, 2014 at Subodh Public school campus, Rambagh circle, Jaipur.

Reverend Digambar Jain Acharya Sri Sudharmsagar ji Maharaj, Shwetambar Khartar Gachchh ascetic Sri Maniratna Sagar ji Maharaj, Tapagachchh Sadhvi Sri Kusumprabha Sri Ji Maharaj and Digambar Jain Aryika Sri Subhushanmati Mataji will grace the occasion with their presence. All of them will deliver their Pravachan for the benefit of the society. It will be a rare occasion where so many Shwetambar and Digambar Jain ascetics (both male and female) will deliver their discourses from a single stage.

Hon’ble Justice N. K. Jain and Hon’ble Justice J.K. Ranka, both from Rajasthan High Court will grace the occasion as special guests. Sakal Jain Samaj, Jaipur will also organize cultural program inclusive of devotional songs, dances and drama on this auspicious occasion. Sri Jain Yuva Parishad will organize a blood donation camp on that day to serve humankind. Mahavira Jayanti celebration will be followed by a lunch for all Jain community members.

All members of Jain community are cordially invited to join the occasion.

Updates:
More saints have consented to join and bless us on the eve of Mahavira Jayanti organized by Sakal Jain Samaj, Jaipur. Shwetambar Terapanth Muni Sri Alok Kumar Ji, Khartar Gachchh Sadhvi Sri Surekha Sri Ji, D lit and Digambar Jain Aaryika Sri Gauravmati Mataji will bless us on that day along with above mentioned ascetics. We are fortunate that a total of seven groups of Jain ascetics from different Shwetambar and Digambar jain sects will be joining us.

We know that Jain society is divided into various communities like other religious communities. Shwetambar and Digambar are the main two sects which are further divided into various sub-sects. Sakal Jain Samaj, Jaipur have been established as an effort to unite all these sub-sects and sects. This organize various events to keep the wheel moving to unite Jain communities. Mahavira Jayanti celebration is one of these events.  Sri Manak Kala and Jyoti Kothari along with more than two hundred prominent community members have been devoting themselves for the purpose of Jain unity.

Vardhaman Infotech
A leading IT company in Jaipur
Rajasthan, India
E-mail: info@vardhamaninfotech.com
http://vardhamaninfotech.com/
allvoices

Monday, March 10, 2014

सकल जैन समाज का महावीर जयंती उत्सव १३ अप्रैल




सकल जैन समाज का महावीर जयंती महोत्सव १३ अप्रैल २०१४ को सुबोध पब्लिक स्कूल, रामबाग सर्किल जयपुर में मनाया जायेगा। इस अवसर पर श्वेताम्बर- दिगंबर समुदाय के साधू- साध्विओं, सतियों, , माताजी आदि का प्रवचन होगा। इस दिन मानव सेवा के कार्यक्रम स्वरुप एक रक्तदान शिविर भी लगाया जायेगा। यह शिविर जैन युवा परिषद् द्वारा आयोजित किया जायेगा। कार्यक्रम को भव्य स्वरुप प्रदान करने के लिए भक्ति संगीत, नृत्य, एकांकी नाटिका आदि का भी आयोजन होगा। कार्यक्रम कि समाप्ति पर साधर्मी वात्सल्य अर्थात सामूहिक प्रीति भोज भी रखा गया है. सभी जैन बंधुओं से कार्यक्रम में पधारने कि आग्रह भरी विनती है.

Update on 23.3. 2014

श्री मानक काला एवं ज्योति कोठारी के निवेदन को स्वीकार कर श्वेताम्बर खरतर गच्छ के स्वर्गीय आचार्यदेव श्री महोदय सागर सूरीश्वर जी जे वरिष्ठ शिष्य पल्लीवाल रत्न परम पूज्य श्री मणिरत्न सागर जी महाराज साहब एवं श्वेताम्बर तपागच्छ समुदाय कि महत्तरा साध्वी श्री सुमंगला श्री जी महाराज कि सुशिष्या साध्वी श्री कल्पलता श्री जी महाराज ने सकल जैन समाज द्वारा आयोजित महावीर जयंती महोत्सव में पधारने कि स्वीकृति प्रदान कि है.

इसी प्रकार दिगंबर जैनाचार्य परम पूज्य स्वर्गीय आचार्य श्री विमल सागर जी महाराज के परम शिष्य १०८ आचार्य श्री सुधर्म सागर जी महाराज एवं श्री सुभुषणमति माताजी ने भी कृपा कर इस कार्यक्रम में पधारने कि स्वीकृति दी है. वर्त्तमान में आपलोग क्रमशः बिलवा एवं अतिशय क्षेत्र पदमपुरा में विराज रहे हैं.

इसके साथ ही राजस्थान उच्च न्यायालय के न्यायाधिपति माननीय श्री नरेंद्र कुमार जैन एवं  न्यायाधिपति माननीय श्री जे के रांका इस कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारेंगे।  श्वेताम्बर एवं दिगंबर जैन समुदाय के श्रेष्ठि वर्ग एवं अन्य अनेक गणमान्य व्यक्ति भी इस उत्सव में सम्मिलित होंगे। सकल जैन समाज द्वारा आयोजित इस महावीर जयंती महोत्सव में जैन समुदाय के लगभग १० हज़ार व्यक्तियों के भाग लेने कि सम्भावना है. इस प्रकार जैन एकता के प्रतीक स्वरुप यह भव्य आयोजन मुनि वृन्दों के आशीर्वाद एवं सकल समाज के अथक प्रयास से संपन्न होने जा रहा है.

Update March 31

दिगंबर जैन आर्यिका परम पूज्य श्री गौरवमति माताजी मानसरोवर से विहार कर श्यामनगर पधार रहीं हैं. आपने भी कार्यक्रम में पधारने कि स्वीकृति प्रदान कि है. इसी प्रकार श्वेताम्बर खरतर गच्छ कि साध्वी परम पूज्या साध्वी श्री सुरेखा श्री जी महाराज, डी. लिट जो कि कलकत्ता से उग्र विहार कर जयपुर पहुची हैं, ने भी कार्यक्रम में पधारने कि सहर्ष स्वीकृति दे दी है. इस प्रकार श्वेताम्बर- दिगंबर समुदाय के तीन तीन संतों, कूल ६ संत समुदाय कि पधारने कि स्वीकृति अब तक प्राप्त हुई है. तेरापंथ समुदाय कि साध्वी परम पूज्या श्री अशोक श्री जी महाराज फतेहपुर से विहार कर जयपुर पहुच रहीं हैं उनके भी महावीर जयंती कार्यक्रम में पधारने कि पूरी सम्भावना है.

Update April 7
श्वेताम्बर तेरापंथ समुदाय के आचार्य श्री महाश्रमण जी के विद्वान शिष्य मुनि श्री आलोक कुमार जी कि भी सकल जैन समाज के महावीर जयंती कार्यक्रम में पधारने कि स्वीकृति प्राप्त हो गई है.  इस प्रकार श्वेताम्बर- दिगंबर जैन समुदाय के परम पूज्य साधू - साध्वी गणो के कूल ७ समुदाय सकल जैन समाज के इस कार्यक्रम में पधारेंगे। जैन एकता का यह एक महाकुम्भ होगा।

सभी जैन बंधुओं से कार्यक्रम में पधारने कि आग्रह भरी विनती है.

 जैन समुदाय के बिभिन्न समुदायों में एकता के सफल प्रयास के रूप में सकल जैन समाज का गठन हुआ. इस संगठन के द्वारा प्रति वर्ष तीन कार्यक्रम आयोजित होते हैं.

१. नव वर्ष मिलन समारोह 
२. महावीर जयंती 
३. क्षमापना (क्षमावाणी)

इन सभी कार्यक्रमों में श्वेताम्बर- दिगंबर जैन संतों के प्रवचन, प्रबुद्ध लोगों के उद्वोधन एवं जैन समुदाय के विभिन्न पंथों व समुदायों में एकता का वातावरण बनाने हेतु कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं.  कार्यक्रम कि समाप्ति सधर्मी वात्सल्य अर्थात सामूहिक प्रीति भोज से होता है.

गत वर्ष सकल जैन समाज द्वारा श्वेताम्बर- दिगंबर जैन संतो का सामूहिक चातुर्मासिक प्रवचन आयोजित किया गया था. कड़वे प्रवचन के लिए विख्यात राष्ट्र संत दिगंबर जैन मुनि तरुणसागर जी एवं श्वेताम्बर जैन मुनि प्रखर वक्त राष्ट्रसंत द्वय ललितप्रभ सागर एवं चन्द्रप्रभ सागर के सामूहिक चातुर्मास का ऐतिहासिक लाभ जयपुर शहर को मिला था. इन तीनो राष्ट्र संतों का ४२ दिन तक सामूहिक प्रवचन जयपुर के प्रसिद्द सर्वचनिक प्रवचन स्थल SMS  मैदान, रामबाग सर्किल पर आयोजित किया गया जिसमे भरी संख्या में जैन जैनेतर लोगों ने प्रवचन का लाभ लिया।

श्री मानक काला ने संयोजक के रूप में कार्यक्रमों को सफल बनाने में भरपूर योगदान दिया।

Jaipur created history in Jain unity


Vardhaman Infotech
A leading IT company in Jaipur
Rajasthan, India
E-mail: info@vardhamaninfotech.com 
allvoices